10TH DAY OF TARUN UTSAV

           -By Divyanshi & Alpana
23.April.2018

Today, The first and second session were addressed by Mr. Arun Lohani and Mrs. Anjana, from Narayana institute. They told us aboit various career opportunities and different emerging fields in which we can get a job. They asked students some questions based on reasoning. They also descibed various scholarship exams for which students of our age are eligible.


The third session was addressed by Jyotika Mam on the topic interpersonal relationships .She told us about how to develop public and professional relations. She also told us about the importance of understanding each other in all types of relations. She described various types of relationships to us. She also told us how we can maintain good and healthy relations with our parents, friends, peers and also in professional life.


आज प्रशिक्षित स्नातक शिक्षक श्री श्याम गुप्ता के द्वारा हिन्दी भाषा में बेस्ट करियर ऑप्शन्स के बारे में मार्गदर्शन प्रदान किया गया.
भारत में सबसे ज़्यादा बोली जाने वाली भाषा है हिंदी. लेकिन बात जब इस भाषा को अपने करियर की तरह चुनने की आए तो उतने ही कम ऑप्शन्स सामने आते हैं. इसी परेशानी के चलते कई होनहार बच्चों या स्टूडेंट्स की ग्रोथ रुक जाती है. लेकिन ऐसे स्टूडेंट्स अपनी स्किल्स को जानकर और सही विषयों को चुनकर इसी भाषा के जरिए बेहतरीन करियर ऑप्शन्स चुन सकते हैं. ऐसा करके उन सभी स्टूडेंट्स को ये क्लियर होगा कि वो किस तरफ अपना करियर मोड़ना चाहते हैं और भविष्य में क्या बनना चाहते हैं. आज हम कुछ 5 करियर ऑप्शनों के बारे में बता रहे हैं, जिन्हें हिंदी मीडियम के स्टूडेंट्स चुन सकते है। हमारी राष्ट्रीय भाषा की अत्यधिक लोकप्रियता और बढ़ते अंतर्राष्ट्रीय महत्व के साथ-साथ, हिंदी भाषा के क्षेत्र में रोज़गार के अवसरों में भी जबर्दस्त प्रगति हुई है। केंद्र सरकार, राज्य सरकारों (हिंदी भाषी राज्यों में) के विभिन्न विभागों में, हिंदी भाषा में काम करना अनिवार्य है। अतः केंद्र/राज्य सरकारों के विभिन्न विभागों और इकाइयों में हिंदी अधिकारी, हिंदी अनुवादक, हिंदी सहायक, प्रबंधक (राजभाषा) जैसे विभिन्न पदों की भरमार है।

The fifth session was conducted by Mohrana sir . In the session we all made paintings under his guidance. He taught us various drawing techniques. We all made paintings and Sir guided us wherever needed.

Comments

Popular posts from this blog

5TH DAY OF TARUN UTSAV

11TH DAY OF TARUN UTSAV

6TH DAY OF TARUN UTSAV